Maa Shayari, Maa Ki Tasveer

Advertisement

Heart Touching Maa Shayari

Bahut Bechain Ho Jata Hai Jab Kabhi Dil Mera,
Main Apne Pars Mein Rakhi Maa Ki Tasveer Ko Dekh Leta Hoon.

बहुत बेचैन हो जाता है जब कभी दिल मेरा,
मैं अपने पर्स में रखी माँ की तस्वीर को देख लेता हूँ।

Besan Ki Roti Par, Khatti Chatni Jaisi Maa..
Yaad Aati Hai Chauka, Baasan, Chimta, Phoonkni Jaisi Maa.

बेसन की रोटी पर, खट्टी चटनी सी माँ...
याद आती है चौका, बासन, चिमटा, फूंकनी जैसी माँ।

Shahar Mein Aa Kar Padhne Wale Ye Bhool Gaye,
Kis Ki Maa Ne Kitna Zevar Becha Tha.

Advertisement

शहर में आ कर पढ़ने वाले ये भूल गए,
किस की माँ ने कितना ज़ेवर बेचा था।

Wo Lamha Jab Mere Bachche Ne Maa Pukara Mujhe,
Main Ek Shaakh Se Kitna Ghana Darakht Huyi.

वो लम्हा जब मेरे बच्चे ने माँ पुकारा मुझे,
मैं एक शाख़ से कितना घना दरख़्त हुई।

Neend Bhi Bhala In Aankhon Mein Kahan Aati Hai,
Ek Arse Se Maine Apni Maa Ko Nahin Dekha.

नींद भी भला इन आँखों में कहाँ आती है,
एक अर्से से मैंने अपनी माँ को नहीं देखा।

Jab Bhi Dekha Mere Kiradaar Pe Dhabba Koi,
Der Tak Baith Ke Tanhayi Mein Roya Koi.
"Meri Maa"

जब भी देखा मेरे किरदार पे धब्बा कोई,
देर तक बैठ के तन्हाई में रोया कोई।
"मेरी माँ"

Advertisement